Daksh

भजन कृष्ण

किनारे मेरी नैया लगा दे ओ कन्हैया | Kinare Meri Naiya Laga De O Kanhaiya – krishan bhajan

BY
Daksh

किनारे मेरी नैया लगा दे ओ कन्हैया,नित जपु तेरा नाम आज नरसीके श्याम नही तुस और खिवैया,कनारे मेरी नैया लगा ...

Vishwakarma Chalisa
Chalisa

विश्वकर्मा चालीसा | Vishwakarma Chalisa

BY
Daksh

श्री विश्वकर्म प्रभु वन्दऊं,चरणकमल धरिध्यान ।श्री, शुभ, बल अरु शिल्पगुण,दीजै दया निधान ॥ जय श्री विश्वकर्म भगवाना ।जय विश्वेश्वर कृपा ...

Mahakal Teri Bhakti Ne Bawal Kar Diya - shiv bhajan
भजन शिव

महाकाल तेरी भक्ति ने बवाल कर दिया | Mahakal Teri Bhakti Ne Bawal Kar Diya – shiv bhajan

BY
Daksh

तेरे कलयुग में भी भक्तो ने कमाल कर दिया,हो जय श्री महाकाल के नारे ने धमाल कर दिया,महाकाल तेरी भक्ति ...

MERI JHOPDI KE BHAG AAJ KHUL JAYENGE
भजन

मेरी झोपड़ी के भाग, आज खुल जाएंगे | Meri Jhopdi Ke Bhag Aaj Khul Jayenge – bhajan

BY
Daksh

मेरी झोपड़ी के भाग,आज खुल जाएंगे,राम आएँगे,राम आएँगे आएँगे,राम आएँगे,मेरी झोपडी के भाग,आज खुल जाएंगे,राम आएँगे ॥ राम आएँगे तो,आंगना ...

ram bhajan
भजन राम भजन

तेरे पूजन को भगवान, बना मन मंदिर आलीशान | Tere Pujan Ko Bhagwan – ram bhajan

BY
Daksh

तेरे पूजन को भगवान,बना मन मंदिर आलीशान । किसने जानी तेरी माया,किसने भेद तुम्हारा पाया ।हारे ऋषि मुनि कर ध्यान,बना ...

jara sar ko jhukao vasudev ji
Uncategorized

jara sar ko jhukao vasudev ji | krishan bhajan

BY
Daksh

हम लखबीर सिंह लक्खा जी का दिल से सम्मान करते है । उन्होंने इतने सुंदर भजनों को अपना स्वर दिया ...

Shree Krishan भजन

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन | aisi lagi lagan meera ho gayi magan – krishan bhajan

BY
Daksh

है आँख वो जो श्याम का दर्शन किया करेहै शीश जो प्रभु चरण में वंदन किया करेबेकार वो मुख है ...

shiv bhajan
भजन शिव

महाकाल की बारात में: भजन | Mahakal Ki Barat Mein shiv bhajan

BY
Daksh

डम ढोल नगाड़ा बाजे,झन झन झनकारा बाजे,डम डम डम डमरु बाजे,महाकाल की बारात में,महाकाल की बारात मे ॥ दूल्हा बने ...

Chalisa

भैरव चालीसा | Bhairav Chalisa

BY
Daksh

श्री गणपति गुरु गौरी पदप्रेम सहित धरि माथ ।चालीसा वंदन करोश्री शिव भैरवनाथ ॥ श्री भैरव संकट हरणमंगल करण कृपाल ...

Ram भजन

भए प्रगट कृपाला दीनदयाला – भजन | Bhaye Pragat Kripala Din Dayala – ram bhajan

BY
Daksh

तुलसीदास रचित, रामचरित मानस, बालकाण्ड-192 भए प्रगट कृपाला दीनदयाला,कौसल्या हितकारी ।हरषित महतारी, मुनि मन हारी,अद्भुत रूप बिचारी ॥ लोचन अभिरामा, ...

1238 Next